Is Sheher Ne Baarish Ko Nahi Bhula

ISNBKNB

 

इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

गर्मी से रिहाई का,
बोझ उतारना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

बादलों के आशीर्वाद का,
शुक्रिया अदा करना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

चहेरे पे पड़ती बूँदो का,
मज़ा लूटना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

काग़ज़ की नैया को,
इठलाते देख हसना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

गर्म चाए और पकोडे का,
स्वाद अब तक नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

बरसते हुए पानी मे,
यादें बरसाना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

गीली मिट्टी की खुश्बू को,
महसूस करना नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

कंबल ओढकर सोने का,
सुकून अब तक नही भूला|
इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

इस शहेर ने बारिश को नही भूला!

– Vishvaraj Chauhan (Funadrius)

Author: Vishvaraj Chauhan

I read, I write. I slip and I slide. I live and I laugh. I love to listen to music, think about every thing that my brain thinks worthy of mentioning and take up a little too much load. But hey, that's why I'm here! The sage in a cage.

2 thoughts on “Is Sheher Ne Baarish Ko Nahi Bhula”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s